सरकार द्वारा अनुच्छेद 370 हटाने के बाद इंदौर की कंपनी ने रखा श्रीनगर में फैक्ट्री लगाने का प्रस्ताव , PMO ने किया मंजूर

पहले जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 370 की वजह से अन्य राज्यों के कोई भी व्यापारी अपनी कंपनी नहीं चला सकता था | परन्तु Article 370 को भारत सरकार द्वारा हटा दिया गया है | अब कोई भी व्यक्ति या व्यापारी अपनी सामान्य जम्मू कश्मीर में चला सकता है | अभी हॉल में इंदौर की एक कमपनी ने श्रीनगर में सेब के छिलको से पैक्टिन पाउडर बनाने प्लांट बनाने की घोषणा की है | इसे पीएमओ द्वारा मंजूरी भी मिल चुकी है, इंदौर का यह व्यापारी अब श्रीनगर में पैक्टिन पॉवडर बनाने का प्लांट लगाएगा | Article 370 हटने के बाद व्यापारी जम्मू-कश्मीर के इलाको में व्यापार करने में दिलचस्पी ले रहे है |

अनुच्छेद 370 हटाने के बाद इंदौर की कंपनी ने रखा श्रीनगर में फैक्ट्री लगाने का प्रस्ताव

सरकार द्वारा अनुच्छेद 370 हटाने के बाद इंदौर की कंपनी ने रखा श्रीनगर में फैक्ट्री लगाने का प्रस्ताव

जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद श्रीनगर में निवेश के लिए इंदौर की एक कंपनी प्रस्ताव मंजूर हो गया है तथा इस प्रस्ताव को PMO द्वारा मंजूरी दी गयी है, इंदौर की यह कंपनी श्रीनगर में सेब के छिलको से पैक्टिन पॉवडर (Pectin Powder) बनाने का प्लांट लगाएगा | इस सम्बन्ध में प्रधानमंत्री कार्यालय को प्रस्ताव भेजा गया था | इंदौर की आशा कन्फेक्शनरी ने यह प्रस्ताव भेजा था | यह कंपनी मूल रूप से चॉकलेट बनाने का काम करती है | प्रधानमंत्री कार्यालय को प्रोजेक्ट के बारे में जानकारी देते हुए कंपनी ने पत्र लिखा था | आशा कन्फेक्शनरी द्वारा जम्मू-कश्मीर में एक से दो हैक्टेयर जमीन पर यह प्लांट लगाने का प्रस्ताव भेजा था | प्रस्ताव पसंद आने पर PMO ने कंपनी के मालिक दीपक दरियानी से प्रोजेक्ट माँगा तथा कार्यवाही के लिए केंद्रीय सूक्ष्म , लघु एवं मध्यम विभाग को आदेश दिए है |

प्रधानमंत्री कार्यालय से मिली मंजूरी

मप्र व्यापम की सभी भर्तियां होल्ड पर 

कंपनी के मालिक दीपक दरियानी द्वारा भेजे गए इस प्रोजेक्ट को PMO से मंजूरी मिल गयी है, प्रस्ताव भेजे जाने पर कंपनी ने एक से दो हेक्टेयर जमीन का उल्लेख किया है | कंपनी वह सेब के छिलको से पैक्टिन पाउडर बनाने पर काम करेगी |

सरकार को यह प्रस्ताव पसंद आया इसके पश्चात् प्रस्ताव को हरी झंडी दे दी गयी | इस प्रोजेक्ट की कार्यवाही के लिए केंद्रीय सूक्ष्म , लघु एवं मध्यम विभाग को आदेश दिए है साथ ही विभाग के डिप्टी डायरेक्टर एके तमरिया ने जम्मू कश्मीर के उद्योग एवं वाणिज्य विभाग के प्रमुख सचिव को पत्र लिख है |

केवल 3 देशो  में होता है पैक्टिन पाउडर का उत्पादन

अविकसित फलो में प्रोटो पैक्टिन नामक पदार्थ पाया जाता है जो पैक्टिन में परिवर्तित हो जाता है और घुलनशील बन जाता है | फलों पे पैक्टिन कोशिकाओं को एक दूसरे से जोड़े रखता है | इसी  ज्यादा पके हुए फल मुलायम होते है | दीपक दरियानी के अनुसार पैक्टिन का उपयोग जूस, जैम, को गाढ़ा करने में होता है | इसके बहुत से उपयोग है इसका उपयोग बियर को गाढ़ा करने में  भी किया जाता है | दुनिया में अभी सिर्फ 3 देशो में इसका उत्पादन होता है | जम्मू-कश्मीर में हमारा प्लांट लगने से जम्मू-कश्मीर के साथ पुरे देश को  फायदा होगा | साथ ही इससे रोजगार भी मिलेंगे |

यह भी जानें :- जल्द ही जोड़े अपने SBI बैंक खाते को आधार से 

लेखक

Rishabh Singh

नमस्ते! मैं Rishabh Singh हूं। मैं आपको यहां रोजगार सम्बंधित जानकारी उपलब्ध कराता हु । यदि आप रेलवे, बैंक, एसएससी, व्यापम, आईबीपीएस या किसी नौकरी से संबंधित कोई खबर देना चाहते हैं, तो कृपया [email protected] पर लिखें। कृपया अपने ईमेल में अपने पूर्ण नाम, शैक्षणिक योग्यता का उल्लेख करें।

1 Comment