‘एक देश, एक ही दिन वेतन’ ला रहे है सरकार श्रमिकों को होगा फयदा

नई दिल्ली | मोदी सरकार ने 2014 से लेकर अब तक कई ऐसे कानूनों में सुधर किये है या फिर नए कानून बनाए गए जो देश के विकाश के लिए आवश्यक है ! अथवा ऐसे कानूनों को भी खत्म किया गया जो देश के विकाश के बाधा उत्त्पन्न कर रहा हो ! इसी बिच अब मोदी सरकार श्रीमिको को एक बड़ी खुशखबरी देने की तैयारी है ! सरकार अब औपचारिक क्षेत्र, विशेष रूप से श्रमिक विभाग में, श्रमिकों के हितो के रक्षा के लिए केंद्र सरकार अब ‘वन नेशन, वन पे डे’ का कानून लेन वाला है | श्रम मंत्री संतोष गंगवार ने शुक्रवार को कहा कि जल्द केंद्र सरकार द्वारा ‘वन नेशन, वन पे डे’ प्रणाली शुरू करने के योजन बना  रहा है |

‘वन नेशन, वन पे डे’

श्रममंत्री संतोष गंगवार ने जानकारी देते हुए कहा कि देश में हर सेक्टर में समय से वेतन मिलना चाहिए एवं समान व्यवस्था होना चाहिए  ! जिससे श्रमिकों को एक ही दिन वेतन मिल सके चाहे ! वे किसी भी सेक्टर में काम कर रहे हो ! उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी चाहते है कि यह कानून जल्द से जल्द पारित हो |

वही सरकार यूनिफार्म मिनिमम वेज प्रोग्राम पर भी काम कर रहा है ! जिसे जल्द लागु करने पर काम कर रहा है ! इस कानून के आने से श्रमिकों के जीवन में काफी सुधार आ सकते है ! इसके अलावा मोदी सरकार ओकुसिनल सेफ्टी, हेल्थ एंड वर्किंग कंडीशंस कोड एवं वेवेज कोड़े जैसे कानून भी लाने वाली है ! संसद से पहले ही कोड वन वेवेज को मंजूरी मिल चुकी है ! जिसे 23 जुलाई 2019 को लोकसभा में पेस किया गया था फ़िलहाल इसके कानून बनाये जा रहे है |

श्रमिकों को अप्पॉइंमेंट लेटर एवं सालाना मुफ्त मेडिकल जांच जैसे सुविधाओं को भी जोड़े गए है ! इसके अलवा हेल्थ एंड वर्किंग कंडीशन कोड में 13 श्रम कानूनों को मिलकर और भी अन्य प्रावधान जोड़े गए है |

लेखक

Archana Kumari

नमस्ते! मैं Archana Kumari हूं। मैं 2016 से नौकरी और शिक्षा पर रिपोर्ट कर रही हूं। यदि आप रेलवे, बैंक, एसएससी, व्यापम, आईबीपीएस या किसी नौकरी से संबंधित कोई खबर देना चाहते हैं, तो कृपया [email protected] पर लिखें। कृपया अपने ईमेल में अपने पूर्ण नाम, शैक्षणिक योग्यता का उल्लेख करें।